बैकारेट से कैसे निपटें

Publishing time:2021-10-25 22:06:28

ऑनलाइन पोकर कोस्टेनलोस एमआईटी फ्रींडन बैकारेट से कैसे निपटें 10cric साइन अप,casumo जुआ आयोग,लियोवेगास साइन अप,lovebet कोड 00,lovebet भारत में काम नहीं कर रहा है,lovebet जाम्बिया लॉगिन,क्या ऑनलाइन कैसीनो विश्वसनीय हैं?,बैकरेट मुक्त विश्लेषण सॉफ्टवेयर,बैकारेट फूलदान विंटेज,भारत में सट्टेबाजी कानूनी ताजा खबर,कैसीनो समुद्र तट,कैसीनो वेक्टर,क्लासिक रम्मी रणनीति,बच्चों के लिए क्रिकेट किट,ई स्पोर्ट्स ज़ुकुनफ़्ट,बकारट रोड का अनुभव,फ़ुटबॉल ऑड्स ट्रेडर स्पष्टीकरण,उत्पत्ति कैसीनो Quora,फ़ुटबॉल खेल का विश्लेषण कैसे करें,आईपीएल नई टीम,जैकपॉट यूटाह,मियामी में लाइव लाठी टेबल,लॉटरी 07/05/21,लॉटरी जाम्बिया,एनबीए डाइविंग रैंकिंग,असली पैसे के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर कोस्टेनलोस ओह्ने एन्मेल्डुंग,पैरामैच हॉर्स रेसिंग,कैसीनो में पोकर,असली ड्रैगन टाइगर क्रैकिंग,नियम हाथ सही,रम्मी वेरिएंट प्रश्न,स्लॉट मशीन कुंजी प्रतिस्थापन,खेल 66,स्पोर्ट्सबुक जॉब रिमोट,टेक्सास होल्डम मानोस,टोटल फ़ुटबॉल,अगर आप ऑनलाइन बैकारेट में पैसे खो देते हैं तो क्या करें?,एक्स-पोकर ऐप,ऊटी गोवा,क्रिकेट cake,गोवा घूमने की जगह बताओ,ड्रैगन किंग,फुटबॉल हिंदी नाम,बेटा वीडियो सॉन्ग,लॉटरी पंजाब result, .डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

42 में से 36 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. वहीं, 5 ने इसे होल्‍ड करने की राय दी है.
डॉ रेड्डीज लैब (डीआरएल) ने वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में ठीक ठाक नतीजे दर्ज किए हैं. सालाना आधार पर इसके कुल रेवेन्‍यू में 12 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस दौरान घरेलू रेवेन्‍यू में 26 फीसदी, अमेरिकी रेवेन्‍यू में 9 फीसदी और यूरोपीय रेवेन्‍यू में 34 फीसदी की बढ़ोतरी हुई. हालांकि, ये आंकड़े बाजार की उम्मीदों से कम थे. हाल में इस शेयर की कीमतों में गिरावट आने का यही कारण था. विश्लेषक कहते हैं कि कीमत में यह कमी इस शेयर में एंट्री का मौका देती है.

छोटी अवधि में ऐसी कई बातें हैं जो डॉ रेड्डीज के शेयरों को बल दे सकती हैं. इसके चलते भी विश्लेषकों की इस शेयर में दिलचस्पी बढ़ी है. कंपनी ने रूस की कोविड वैक्सीन स्पुतनिक का लाइसेंस प्राप्त किया है. यह मंजूरी का इंतजार कर रही है. नियामक संबंधी प्रकिया पूरी होने में समय लगता है. लेकिन, विश्लेषकों को इसके सकारात्मक नतीजे मिलने की उम्‍मीद है. कारण है कि इसी टेक्नोलॉजी पर आधारित दूसरी वैक्‍सीनों ने क्‍लीनिकल टेस्‍ट में अच्‍छे नतीजे दिखाए हैं.

इसे भी पढ़ें : मुझे रिटायरमेंट के लिए 21 साल में 1 करोड़ रुपये जुटाना है, कैसे प्‍लान बनाऊं?

एक बार मंजूरी मिलने के बाद कंपनी की योजना भारत के साथ अन्‍य देशों में इसकी मार्केटिंग करने की है. यह काम सरकार और प्राइवेट वैक्‍सीन प्रोग्राम के तहत किया जाएगा. रूस और कॉमनवेल्थ देशों में बाजार के समीकरण भारत जैसे हैं. यहां ब्रांडेड और ओटीसी दवाओं पर फोकस बढ़ा है. इस दिशा में पहले कदम बढ़ा देने से डॉ रेड्डीज को पहले ही फायदा मिला है. स्पुतनिक के निर्यात से कंपनी को और फायदा हो सकता है.

अमेरिकी बाजार में कंपनी कई प्रोडक्‍ट लॉन्‍च करने वाली है. छोटी अवधि में यह भी इसके शेयरों में हवा देगा. डॉ रेड्डीज लैब के कुल मार्केट में अमेरिका की हिस्सेदारी करीब 37 फीसदी है.

डीआरएल की प्रोडक्‍ट पाइपलाइन काफी मजबूत है. नए लॉन्‍च होने वाले ज्यादातर प्रोडक्‍ट जटिल और खास प्रोडक्‍ट सेगमेंट के हैं. डॉ रेड्डीज लैब ने अमेरिका में अक्टूबर 2020 में कुवान का जेनरिक वर्जन लॉन्‍च किया था. यह इसका पाउडर वर्जन जल्‍द लॉन्‍च करने वाली है. चूंकि, पाउडर वर्जन की मार्केट हिस्सेदारी 70 फीसदी है. लिहाजा, आने वाली तिमाहियों में डीआरएल को इस प्रोडक्‍ट से ज्यादा रेवेन्यू पाने में मदद मिल सकती है.

इसे भी पढ़ें : कैसा है एलएंडटी टैक्‍स एडवांटेज म्‍यूचुअल फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

एपीआई की किल्लत के चलते विलंब के बावजूद डीआरएल अपनी जेनेरिक दवा वासेपा को जल्‍द लॉन्‍च करने के लिए प्रतिबद्ध है. 2021-22 के दौरान वह धीरे-धीरे इसका उत्पादन बढ़ाएगी.

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है. कुछ दवाओं को लेकर इसका दबदबा रहा है. यह फ्री कैश फ्लो (एफसीएफ) भी जनरेट कर रही है. 42 में से 36 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. वहीं, 5 ने इसे होल्‍ड करने की राय दी है. 1 का कहना है कि इसे बेचना चाहिए.

master9

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

डॉ रेड्डीज लैबरेवेन्‍यूनिवेश की सलाहतीसरी तिमाही के नतीजेडीआरएलदवाविश्‍लेषक

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read
डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

समय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए.इंदौर, 25 अक्टूबर (भाषा) स्थानीय संयोगितागंज अनाज मंडी में सोमवार को मसूर 100 रुपये, तुअर (अरहर) 100 रुपये और मूंग के भाव में 100 रुपये प्रति क्विंटल की कमी शनिवार की तुलना में हुई। आज तुअर की दाल 100 रुपये प्रति क्विंटल सस्ती बिकी।दलहन चना (कांटा) 5100 से 5125,मसूर 7200 से 7250,तुअर (अरहर) निमाड़ी 5300 से 6100, तुअर सफेद (महाराष्ट्र) 6300 से 6400, तुअर (कर्नाटक) 6500 से 6700,मूंग 6900 से 7200, मूंग हल्की 6100 से 6500,उड़द 7000 से 7400, उड़द नया 5500 से 6500, उड़द हल्की 2500 से 4500 रुपये प्रति क्विंटल।दालतुअर (अरहर) दाल सवा नंबर 8500 से 8600,तुअरनिवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

इंदौर, 25 अक्टूबर (भाषा) खाद्य तेल बाजार में सोमवार को सोयाबीन रिफाइंड के भाव में 10 रुपये प्रति 10 किलोग्राम की कमी शनिवार की तुलना में हुई। आज सरसों 200 रुपये प्रति क्विंटल महंगी बिकी।तिलहनसरसों (निमाड़ी) 7800 से 8000 रुपये प्रति क्विंटल।तेल मूंगफली तेल इंदौर 1460 से 1480,सोयाबीन रिफाइंड इंदौर 1285 से 1290,सोयाबीन साल्वेंट 1235 से 1240,पाम तेल 1280 से 1285 रुपये प्रति 10 किलोग्राम।कपास्या खलीकपास्या खली इंदौर 1950,कपास्या खली देवास 1950, कपास्या खली उज्जैन 1950,कपास्या खली खंडवा 1900,कपास्या खली बुरहानपुर 1900 रुपये प्रति 60 किलोग्राम बोरी।कपास्या खली अकोला 2550 रुपये प्रति क्विंटल।नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार को एक दिन पहले किये जाने वाले हरित बिजली कारोबार बाजार की शुरुआत की। इससे देश में बिजली कारोबार की स्थिति और मजबूत होगी।‘ग्रीन डे अहेड मार्केट’ (जीडीएएम) यानी एक दिन पहले किये जाने वाले हरित बिजली कारोबार बाजार से नवीकरणीय ऊर्जा के लिये बाजार को मजबूती मिलेगी। इससे प्रतिस्पर्धी कीमत के संकेत मिलेंगे। साथ ही बाजार प्रतिभागियों को पारदर्शी, प्रतिस्पर्धी और कुशल तरीके से हरित ऊर्जा में कारोबार का अवसर मिलेगा। सिंह ने कहा, ‘‘हम नवीकरणीय ऊर्जा के लिये नये द्वार खोल रहे हैं। आज पेशनिवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


स्लॉट और प्यूर्टोस
फुटबॉल 8k वॉलपेपर
एनबीए बास्केटबॉल लाइव स्कोर
गेमिंग इंटरनेशनल
बोन्स ज़ागुइरोस फीफा 20
स्टेटस भजन
lovebet नवीनतम एपीके डाउनलोड
कैमरा ओपन
कौन सा फ़ुटबॉल सट्टेबाजी नेटवर्क अच्छा है
ऑनलाइन पोकर ड्यूशलैंड रीचस्लेज 2020
यूरोपीय कप फाइनल मकाऊ सेट
रम्मी ५ या ७ कार्ड
रम्मी मॉडल
कैसीनो कोंस्तान्ज़ो
बहुत स्लॉट
स्पोर्ट्स ई लोगो
365 कैसीनो आईपैड
एमपीएल में रम्मी कैसे खेलें
कौन सा सिक बो गेम प्लेटफॉर्म सबसे सुरक्षित है
स्लॉट का हिंदी अर्थ
रमी मोबाइल ऑफर
फुटबॉल सट्टेबाजी वेबसाइट नेविगेशन
संचायक 7 लवबेट
लाइव लाठी कैसीनो यूएसए
कैसीनो 567
कैसीनो के खेल hdf
कुंवारी खेल जैकपॉट विजेता