क्या लाइव बैकरेट झूठ है?

क्या लाइव बैकरेट झूठ है?

time:2021-10-21 16:25:50 क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए? Views:4591

कौन सा ऑनलाइन बैकारेट बेहतर है क्या लाइव बैकरेट झूठ है? 188bet प्रायोजन,fun88 शर्त,lovebet 247,lovebet गैलेक्सी असिस्टेंट,lovebet स्क्रिप्ट डाउनलोड,lovebetल'आवेदन,बैकारेट 540,बैकरेट लाइव गेम खाता खोलना,एनआरएल 2021 में सर्वश्रेष्ठ पांच आठवें,लाठी लाइव APK,कैसीनो घी,शतरंज 0एनलाइन,क्रिकेट 69,क्रिकेट बग,एस्पोर्ट्स ओलंपियाडस 2021,फ़ुटबॉल 6 जुलाई 2021,फ़ुटबॉल.कॉम यू.ए,हा पोकर खिलाड़ी,जीतने के लिए ऑनलाइन बैकारेट कैसे खेलें,क्या ऑनलाइन बैकरेट सट्टेबाजी विश्वसनीय है?,कश्मीर कैसीनो,लाइव कैसीनो gamstop पर नहीं,लॉटरी चेहरा,लूडो ऑनलाइन चुनौती,ओह लॉटरी परिणाम,ऑनलाइन गेम हिडन वस्तु,मोबाइल पर ऑनलाइन रमी,pk10 लॉटरी का सीधा प्रसारण,पोकर सितारे ऐप,रूले सिक्के,रम्मी 4 प्ले,रम्मीकल्चर नया लॉगिन,स्लॉट 24,स्पोर्ट्स एच लोगो,टी क्रिकेट लाइव,सबसे अच्छा ऑनलाइन मनोरंजन,संयुक्त कैसीनो,कौन सा लाइव कैश ब्लैकजैक गेमिंग प्लेटफॉर्म क्रुपियर अच्छा दिखता है,AGइलेक्ट्रोनिक,ऑनलाइन पैसे बनाएं yat,क्रिकेट छक्का,गोवा होटल रूम प्राइस,तीन पत्ती हेल्पलाइन नंबर,बरसात उपचार,मर्सिडीज-बेंज बीएमडब्ल्यू मल्टीप्लेयर संस्करण,स्टेटस का हिंदी, .क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है.
हाल में कई फंड ऑफ फंड्स (एफओएफ) लॉन्‍च हुए हैं. इस तरह निवेशकों के पास चुनने के लिए विकल्पों की कमी नहीं है. हालांकि, एक बात हर निवेशक को ध्‍यान रखने की जरूरत है. चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है. इसका मतलब है कि निवेशकों को ओरिजनल स्‍कीम के साथ ही एफओएफ के एक्सपेंस रेशियो का भार भी उठाना पड़ सकता है.

इस बात को उदाहरण से समझते हैं. मान लेते कि निवेशक हाल में लॉन्‍च निप्‍पॉन इंडिया एसेट अलोकेट एफओएफ में निवेश करते हैं. इस मामले में उन्‍हें एफओएफ का एक्‍सपेंस रेशियो 0.19 फीसदी उठाना पड़ेगा. साथ ही वह एफओएफ जिन स्‍कीमों में निवेश करेगा, उनके वेटेड एवरेज एक्‍सपेंस रेशियो का भार भी निवेशकों पर आएगा. इस मामले में तीन स्‍कीमें हैं, निप्‍पॉन इंडिया स्‍मॉलकैप फंड (1.06%), निप्पॉन इंडिया ग्रोथ फंड (1.26%) और निप्पॉन इंडिया लॉर्जकैप फंड (1.18%).

आपको एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल सिर्फ तभी करना चाहिए अगर अतिरिक्‍त कॉस्‍ट उचित है. आइए, जानते हैं कि इस फैसले तक पहुंचने में आपको किन बातों का ध्‍यान रखना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

आपके रिटर्न प्रोफाइल में फिट हो स्‍कीम
प्राइमरी स्‍कीम यानी घरेलू म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम का उपलब्‍ध न होना एफओएफ रूट लेने का एक कारण हो सकता है. इससे भी अधिक महत्वपूर्ण यह है कि इस नई स्‍कीम को आपके पोर्टफोलियो प्रोफाइल में फिट होना चाहिए.

क्रेडेरे वेल्‍थ पार्टनर्स में प्रोडक्‍ट और रिसर्च के हेड अरुण गोपालन कहते हैं, ''निवेशकों को जिस स्‍कीम में निवेश किया जा रहा है, उसे देखना चाहिए. साथ ही यह भी पता लगाना चाहिए कि उससे क्‍या मकसद हल हो रहा है.''

एलआरएस के जरिये सीधे निवेश करने में क्‍या दिक्‍कत है?
आप पूछ सकते हैं कि लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्‍कीम (एलआरएस) का इस्तेमाल करते हुए सीधे विदेशी शेयरों में क्‍यों निवेश नहीं किया जा सकता है. यह बिल्‍कुल सही है कि आप सीधे निवेश कर सकते हैं. लेकिन, उसके लिए आपको काफी विशेषज्ञता की जरूरत होगी. इस बात को ध्‍यान रखना चाहिए कि भारतीय फंड हाउस सीधे इंटरनेशनल सेगमेंट में सिर्फ इसलिए नहीं हाथ आजमा रहे हैं क्योंकि उनके पास यहां निवेश करने की कुशलता नहीं है.

इसे भी पढ़ें : मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

आप इंटरनेशनल फंडों या एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड में निवेश कर काफी हद तक विशेषज्ञता के मसले को हल कर सकते हैं. हालांकि, यह एक और परेशानी खड़ी करेगा. वह है एलआरएस व्यवस्था के तहत रिपोर्ट‍िंग की.

हाल में लॉन्‍च हुए एफओएफ
master

जहां एफओएफ रूट का इस्‍तेमाल ग्‍लोबल डायवर्सिफिकेशन के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है. वहीं, अच्‍छा होगा कि घरेलू थीम के लिए इससे बचा जाए.

घरेलू एफओएफ की उपयोगिता कम
बात जब घरेलू परिदृश्य की आती है तो एफओएफ की उपयोगिता घट जाती है. हाल में लॉन्‍च कई एफओएफ अपने ही ईटीएफ में पैसा लगाएंगे. इस मामले में वैल्यू एडिशन कम है. कारण है कि निवेशक सेकेंडरी मार्केट से प्राइमरी ईटीएफ सीधे खरीद सकते हैं. हालांकि, यह निवेशकों के एक धड़े के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

प्‍लान अहेड वेल्थ एडवाइजर्स के सीईओ विशाल धवन कहते हैं कि जिन म्‍यूचुअल फंड निवेशकों के पास डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट नहीं है, उनके लिए ईटीएफ में एफओएफ निवेश उपयोगी होगा.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

फंड ऑफ फंड्सएफओएफम्‍यूचुअल फंडरिटर्न प्रोफाइलएक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read

एक साल पहले इस फंड के अनुभवी मैनेजर ने इस्तीफा दिया. हालांकि, स्‍कीम की बागडोर मजबूत प्रबंधन के हाथों में है. निवेश के तरीके में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है.बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.OTP: ऑनलाइन या डिजिटल प्लैटफॉर्म पर पेमेंट करते वक्त यूजर्स की ओर से ही पेमेंट किया जा रहा है, यह कन्फर्म करने के लिए मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आता है।निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) सिंगापुर के मध्यस्थता न्यायाधिकरण ने कहा है कि रिलायंस रिटेल के फ्यूचर ग्रुप की संपत्तियों की बिक्री से जुड़े विवाद में अमजेन और फ्यूचर ग्रुप के बीच चल रही मध्यस्थता में फ्यूचर रिटेल एक पक्ष है। गौरतलब है कि फ्यूचर द्वारा रिलायंस इंडस्ट्रीज की खुदरा शाखा को उसके खुदरा, थोक, रसद और वेयरहाउसिंग संपत्तियों की 24,713 करोड़ रुपये की बिक्री को रोकने की कोशिश कर रहे अमेजन ने आरोप लगाया है कि रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (आरआरवीएल) और फ्यूचर के बीच यह सौदा, 2019 में किशोर बियानी के नेतृत्व वाली कंपनी के साथ हुए उसके खुदकेंद्रीय कैबिनेट (union cabinet) की आज बैठक हो रही है जिसमें केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने पर फैसला हो सकता है। इससे 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा होगा। केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है।मुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
जुआ कौशल कैसे सीखें

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.

खुश किसान नोट

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.

रम्मी पैलेस

बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.

वास्तविक ऑनलाइन जुआ साइटें

जिस तरह से मस्क की नेटवर्थ बढ़ रही है, उससे वह दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर (Trillionaire) बन सकते हैं। यानी उनकी नेटवर्थ आने वाले दिनों में 1 लाख करोड़ डॉलर पहुंच सकती है। Morgan Stanley के एनालिस्ट Adam Jones का कहना है कि मस्क की कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) में विकास की अपार संभावनाएं हैं। यही वजह है कि मस्क के दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर बनने की संभावना बढ़ गई है। टेस्ला के तीसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक कंपनी की नेट इनकम 1.62 अरब डॉलर रही। यह दूसरा मौका है जब कंपनी की इनकम 1 अरब डॉलर के पार पहुंची है। पिछली तिमाही में कंपनी की नेट इनकम 33.1 करोड़ डॉलर रही थी।

नियम शून्य इंटरनेट

मुंबई, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख और एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, कोटक बैंक और इंफोसिस के शेयरों में तेजी के साथ सेंसेक्स में बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में 250 अंक से अधिक की तेजी आयी। शुरुआती सौदों में 30 शेयरों वाला सूचकांक 265.84 अंक या 0.43 प्रतिशत बढ़कर 61,525.80 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह निफ्टी 93.45 अंक या 0.51 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,360.05 पर था। सेंसेक्स में सन फार्मा लगभग दो प्रतिशत की तेजी के साथ शीर्ष पर थी। इसके बाद पावरग्रिड, एनटीपीसी, एचडीएफसी, कोटक बैंक और एमएंडएम के शेयरों का स्थान रहा। दूसरी ओर,

संबंधित जानकारी
लाइव लाठी समीक्षा

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने बृहस्पतिवार को कहा कि उच्चतम न्यायालय ने कंपनी की 4,000 करोड़ रुपये की इक्विटी पूंजी जुटाने की योजना से जुड़े मामले में प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) के आदेश के खिलाफ दायर सेबी की याचिका को "गैरजरूरी" बताते हुए खारिज कर दिया है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि पिछले हफ्ते उसके निदेशक मंडल ने "तरजीही मुद्दे पर आगे नहीं बढ़ने और प्रस्तावित आवंटियों के साथ कार्यान्वित शेयर सदस्यता समझौते को उनकी संबंधित शर्तों के अनुसार समाप्त करने का फैसला किया था।"इसके साथ ही भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा प्रतिभूति अपीलीय

गरम जानकारी